करोड़ों रुपयों का बिजली खर्च बचाया ,उत्तर पश्चिम रेलवे ने बिछाया सोलर पैनल का जाल

0
25

उत्तर पश्चिम रेलवे ने बिजली की बढ़ती खपत को देखते हुए अब अपने चारों मंडलों में सोलर पैनल का जाल बिछा दिया है. NWR का दावा है कि अब तक सोलर पैनल के सहारे वह करोड़ों रुपयों की बचत कर चुका है. अब तक 6973 किलोवाट के सोलर पैनल का जाल बिछा दिया गया है और ये मुहिम लगातार जारी है. NWR का लक्ष्य है कि आने वाले समय में सभी रेलवे स्टेशन सोलर पैनल से ही चलाए जाए.

पर्यावरण और ऊर्जा संरक्षण के लिये उत्तर पश्चिम रेलवे  6973 किलोवाट क्षमता के सोलर पैनल लगाकर प्रतिवर्ष 3.96 करोड़ की बचत कर रहा है. ऊर्जा संरक्षण के साथ पर्यावरण को स्वच्छ बनाने के लिये रेलवे भी लगातार सकारात्मक कदम उठा रहा है. इसमें परम्परागत संसाधनों के स्थान पर पर्यावरण अनूकुल माध्यमों का उपयोग किया जा रहा है. उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जन सम्पर्क अधिकारी अभय शर्मा के अनुसार रेलवे अपने प्रयासों को गति प्रदान कर स्वच्छ पर्यावरण की मुहिम को बढ़ाने के साथ-साथ राजस्व की भी बचत कर रहा है. इस जोन में पिछले कुछ समय से सौर ऊर्जा पर काफी कार्य किये गये हैं. इसी कड़ी में 6973 किलोवाट के पैनल लगाए जा चुके हैं. जोन के जयपुर और अजमेर स्टेशन पर 500-500 किलोवाट के पैनल लगाए गए हैं. वहीं जोधपुर स्टेशन पर 770 किलावाट का उच्च सोलर पैनल स्थापित किया गया है. जोधपुर वर्कशॉप पर 440 और मण्डल रेल प्रबंधक कार्यालय पर 230 किलोवाट का सोलर पैनल लगाया गया है. वहीं भगत की कोठी पर 250 किलोवाट, मारवाड़ जंक्शन पर 120 और क्षेत्रीय रेलवे प्रशिक्षण संस्थान उदयपुर में 180 किलोवाट का सोलर पैनल लगाया गया है. इसके अलावा दूसरे छोटे जंक्शन पर भी सोलर पैनल स्थापित कर विद्युत उत्पादन किया जा रहा है.

READ More...  सरपंच चुनाव 2020: 'अलमारी' के चक्कर में पंचायत चुनाव में कूदे 3 पिता-पुत्र