राजस्थान में कोरोना से हड़कंप, संदिग्ध मरीजों पर विशेष निगरानी

0
258

जयपुर: चीन के कोरोना वायरस को लेकर दुनियाभर के देशों में अलर्ट है. भारत के साथ-साथ राजस्थान में भी कोरोना को लेकर दहशत फैली हुई है. चीन से लौटे लोगों में वायरस फैलने की आशंका के चलते खौफ का माहौल है. हालांकि चीनी वायरस को लेकर स्वास्थ्य महकमे अलर्ट मोड पर है.

चीन के जानलेवा कोरोना वायरस ने दुनियाभर में दहशत फैला रखी है. चीन में अब तक 304 लोगों की मौत इस वायरस की वजह से हो चुकी है. कोरोना की दहशत चीन के साथ-साथ अब भारत में धीरे-धीरे बढ़ रही है. चीन से लौटने के बाद कुछ मरीजों में कोरोना वायरस की आशंका के चलते हड़कंप मचा हुआ है.

राजस्थान में भी चीन से लौटे लोगों को लेकर कोहराम मचा हुआ है. डॉक्टरों के साथ-साथ लोग भी दहशत में है. बीकानेर में चीन से पहुंचे तीन युवकों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई हैं, जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने राहत की सांस ली है.

वहीं, चीन से अलवर लौटे दो छात्रों को जांच के लिए आइसोलेशन वार्ड में रखा गया. अजमेर के किशनगढ़ में एक व्यक्ति को कोरोना वायरस के लक्षण की आशंका के चलते जवाहर लाल नेहरू अस्पताल में ओसोलेशन वार्ड में रखा गया है. उस व्यक्ति के पूरे परिवार को भी सुरक्षा घेरे में लेकर तमाम जांच की जा रही है.

अलवर में चीन से लौटे दोनों छात्रों को जांच के लिए आइसोलेशन वार्ड में रखा गया. दोनों छात्र 30 जनवरी को चीन से लौटे थे. करोना वायरस के खतरे को देखते हुए डॉक्टर्स की टीम ने दोनों की गहनता से जांच की. हालांकि किसी भी तरह की बीमारी के लक्षण नहीं पाए गए है, लेकिन फिर भी एतहियात के तौर पर 14 दिन के लिए आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है.

READ More...  स्कूल से आ रही शिक्षिका को बदमाशों ने बीच सड़क पर तलवार से काट डाला, मौके पर ही तोड़ा दम

कोरोना वायरस लाइलाज़ है. इसलिए इससे बचाव ही एकमात्र उपाय है. राजस्थान सरकार भी कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट पर है. लिहाजा संदिग्ध मरीज पाए जाने पर तुरंत उसको आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर गंभीरता से जांच की जा रही है.