चूरू: 9 वर्षीय मासूम के साथ हैवानियत, रेप कर जान से मारने के लिए पत्थरों में दबाया

0
150

चूरू: जिले के सादुलपुर पुलिस थाना इलाके में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है. यहां सोमवार रात 9 वर्षीय बालिका के साथ रेप कर उसे जान से मारने का प्रयास किया गया. आरोपी ने हैवानियत की हदें पार करते हुए मासूम से दरिदंगी कर उसे ईंटों और पत्थरों के नीचे दबा दिया. गनीमत रही कि समय रहते इसका पता चल गया और पीड़िता को बचा लिया गया. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ रेप और पोक्सो एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है.

तीसरी कक्षा में पढ़ती है मासूम
पुलिस के अनुसार वारदात की शिकार हुई बालिका तीसरी कक्षा में पढ़ती है. 9 वर्षीय बालिका सोमवार रात को सादुलपुर कस्बे में दुकान पर टॉफी लेने गई थी. इस दौरान रात के अंधेरे का फायदा उठाकर आरोपी ने उसका अपहरण कर लिया और उसे एक खंडहर में ले गया. वहां उसने मासूम से रेप किया. बाद में उसे जान से मार देने की नीयत से उसके सिर पर ईंट से वार कर दिया. आरोपी पीड़िता को मरा हुआ समझकर उसे ईंटों और पत्थरों के नीचे दबाकर फरार हो गया.

ईंटों और पत्थरों के नीचे दबी मिली

पीड़िता के परिजन और मोहल्ले के लोग जब मासूम को तलाशते हुए खंहडर में पहुंचे तो उन्हें वहां सिसकने की आवाज सुनायी दी. इस पर लोगों ने उसे ईंटों और पत्थरों के नीचे से निकाला तो वह लहुलुहान हालत मिली. उसके सिर और हाथ पर चोट लगी थी. पीड़िता को तुरंत निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया. बालिका के होश में आने के बाद वारदात को पता चल सका. मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को तत्परता बरतते हुए कस्बे के वार्ड संख्या- 22 से आरोपी अकरम काजी को गिरफ्तार कर लिया.

READ More...  जिला जाटव सुधार समिति की आम सभा मे पहुचने के लिये लोगों से की अपील

एफएसएल टीम ने मौका-ए-वारदात पर पहुंचकर साक्ष्य जुटाये
बाद में बालिका को राजकीय रेफरल अस्पताल में एडमिट करवाया गया. वहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे चूरू के राजकीय भरतिया अस्पताल रेफर कर दिया गया है. यहां उसक मेडिकल बोर्ड से उसका मेडिकल करवाया जाएगा. पुलिस के मुताबिक बालिका के प्राइवेट पार्ट पर चोट और सूजन है. एफएसएल टीम ने मौका-ए-वारदात पर पहुंचकर साक्ष्य जुटाये हैं. पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए इस मामले में रोजाना कार्रवाई के आदेश दिये हैं. बकौल एसपी ऐसे मामलों में जल्द से जल्द कार्रवाई उनकी प्राथमिकता है.