मांसपेशियों से लेकर मसूड़ों तक के लिए फायदेमंद है सेंधा नमक, ऐसे करता है काम

0
18

नमक की एक चुटकी ज्यादातर भोजन में स्वाद ले आती है. वैसे तो एक स्वस्थ व्यक्ति के शरीर को रोजाना केवल एक चम्मच नमक की आवश्यकता होती है, लेकिन लोग कई माध्यमों से इससे कहीं ज्यादा नमक का सेवन कर लेते हैं. बेहतर होगा कि आम नमक को सेंधा नमक यानी रॉक सॉल्ट में बदल दिया जाए. सेंधा नमक अपने गुणों, उपयोग और स्वास्थ्य लाभ की वजह से काफी अलग है. इसे आमतौर पर उपवास के दिनों में भोजन बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. सेंधा नमक में 80 से अधिक खनिज होते हैं, जिनमें से कई रोजमर्रा के खाद्य स्रोतों में नहीं पाए जाते हैं. ये खनिज कई शारीरिक कार्यों के लिए फायदेमंद हैं. सेंधा नमक अधिकतर रंगहीन या सफेद होता है. हालांकि, इसमें मौजूद अशुद्धियों की वजह से यह हल्के नीले, लाल, गहरे नीले या पीले रंग का हो सकता है. सभी नमक के प्रकारों में इसे सबसे अच्छा माना जाता है. आयुर्वेद में इसे रोजाना इस्तेमाल में लेने की सलाह दी जाती है. यह पंजाब के सिंध क्षेत्र में पाया जाता है इसलिए इसे सिंधुजा भी कहते हैं.

सेंधा नमक पाचन को बढ़ावा देने के साथ-साथ भूख कम करने में भी मदद करता है. पेट दर्द से छुटकारा पाने का यह प्राकृतिक तरीका है. इसके इस्तेमाल से पेट में एसिड का कम उत्पादन होता है जिससे सीने में जलन की समस्या नहीं होता है. आयुर्वेद के मुताबिक सेंधा नमक को ताजा पुदीने के पत्तों की लस्सी में मिलाकर पीने से लाभ होता है. यह पेट के कीड़ों को खत्म करने में भी मददगार है. इसे नींबू के रस के साथ पीने पर पेट के कीड़ों की परेशानी दूर होती है.

READ More...  World Osteoporosis Day 2020: क्या है ऑस्टियोपोरोसिस, जानें इसके लक्षण और बचाव

मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा

मेटाबॉलिज्म एक ऐसी प्रक्रिया है जो भोजन को ऊर्जा में बदलने का काम करती है. सेंधा नमक का उपयोग शरीर में मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने के लिए किया जा सकता है. यह शरीर के बेहतर कामकाज में फायदेमंद साबित हो सकता है. सेंधा नमक शरीर के भीतर जल अवशोषण को बेहतर बनाने में भी मदद कर सकता है. इससे खनिज और पोषक तत्व आसानी से अवशोषित होते हैं.

मांसपेशियों के लिए कारगर

पोटेशियम मांसपेशियों को प्रभावी ढंग से संचालित करने में मदद करता है. यह मांसपेशियों में दर्द के साथ-साथ ऐंठन में भी राहत पहुंचाता है.

गले की परेशानियों से छुटकारा

गले में दर्द या सूजन, सूखी खांसी या फिर टॉन्सिल हो, इन तकलीफों को दूर करने के लिए गुनगुने पानी में सेंधा नमक मिलाकर गरारा करें.

मसूड़ों के लिए

दांतों और मसूड़ों के लिए सेंधा नमक का सेवन बेहद असरदार है. इससे मसूड़ों की मसाज भी की जा सकती है. इसके लिए एक मिश्रण तैयार करें जिसमें 1 चम्मच सेंधा नमक, नीम पाउडर और त्रिफला पाउडर मिलाएं. इस मिश्रण को एक चुटकी इस्तेमाल कर, पानी से कुल्ला कर लें.