स्कूल व्याख्याता भर्ती: सरकार ने तारीख बढ़ाने से किया इनकार, तय समय पर होगी परीक्षा

0
51

जयपुर : स्कूल व्याख्याता भर्ती परीक्षा (School lecturer recruitment exam) मामले में सरकार ने अभ्यर्थियों की मांग को सिरे से नकारते हुए परीक्षा की तिथि आगे बढ़ाने से इनकार (Refuses) कर दिया है. परीक्षा की तिथि बढ़ाई जाए या नहीं इसके लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कैबिनेट सब कमेटी (Cabinet sub committee) का गठन किया था. अब कैबिनेट सब कमेटी ने परीक्षा की तिथि आगे नहीं बढ़ाने का निर्णय (Decision) लिया है. परीक्षा निर्धारित समय (Scheduled time) यानी 3 जनवरी से 13 जनवरी के बीच ही होगी. आरपीएससी (RPSC) परीक्षा का कार्यक्रम पहले ही जारी कर चुका है. व्याख्याता परीक्षा की तिथि आगे बढ़ाने के लिए बीजेपी सांसद किरोड़ीलाल मीणा (Kirodilal meena) के नेतृत्व में राजधानी जयपुर में अभ्यर्थी धरने पर बैठे हुए हैं.

दो दफा बढ़ाई जा चुकी है परीक्षा की तारीख
सरकार ने स्कूल व्याख्याता के 5000 पदों के लिए भर्ती निकाली थी. पहले जनवरी 2019 में इस भर्ती की तारीख रखी गई थी. लेकिन तब भी अभ्यर्थियों को आंदोलन हुआ था. आंदोलन को देखते हुए परीक्षा की तारीख आगे बढ़ाकर 15 जुलाई 2019 तय की गई थी. इसके बाद भी 15 जुलाई को परीक्षा नहीं करवाते हुए तीसरी बार परीक्षा की तिथि जनवरी 2020 में तय की गई. लेकिन नवंबर महीने में ईडब्ल्यूएस आरक्षण और नए आवेदनों के कारण अभ्यर्थियों ने मांग करते हुए कहा कि तैयारी का पूरी तरह वक्त नहीं मिल पाया है. लिहाजा इसे जुलाई 2020 तक बढ़ाया जाए. इसे लेकर अभी भी अभ्यर्थी आंदोलन पर हैं. 5 अभ्यर्थी लगातार 12 दिन से अनशन कर रहे हैं. बीजेपी सांसद किरोड़ीलाल मीणा के नेतृत्व में शहीद स्मारक पर लगातार धरना दिया जा रहा है.

READ More...  पहले चरण के लिए मतदान शुक्रवार को, उम्मीदवारों ने झोंका पूरा दम, सरपंच चुनाव 2020

विद्यार्थी हित में परीक्षा तय समय पर ही कराने का फैसला

शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने गुरुवार को कहा कि छात्रों के हित में परीक्षा की तिथि आगे नहीं बढ़ाने का फैसला लिया गया है. परीक्षा तय समय पर ही होगी. उन्होंने कहा कि कैबिनेट सब कमेटी के समक्ष परीक्षा तिथि आगे बढ़ाने और नहीं बढ़ाने को लेकर दोनों पक्षों के ज्ञापन आए हुए थे. दोनों पक्षों की दलील सुनने और सब कमेटी में विचार विमर्श के बाद सरकार ने स्कूलों में शिक्षकों की कमी को देखते हुए विद्यार्थी हित में परीक्षा को तय समय पर ही कराने का फैसला लिया है. डोटासरा ने अभ्यर्थियों से अपील की है कि वे आंदोलन समाप्त करें. बहुत जल्द रीट भर्ती की घोषणा होने जा रही है. उसमें सभी अच्छे से तैयारी करके शामिल हो सकते हैं.