जयपुर और जोधपुर समेत आज से इन 22 जिलों में बदल सकता है मौसम, पश्चिमी विक्षोभ हो रहा है सक्रिय

0
219

जयपुर : मई का महीना यानि हलक सूखाने वाली भीषण गर्मी आसमान से बरसती आग और लू के थपेड़े. अप्रेल माह की शुरुआत से ही राजस्थान में गर्मी का अहसास शुरू हो जाता है. लेकिन इस वर्ष बहुत कुछ अलग हो रहा है. मई का महीना शुरू होने के बाद भी प्रदेश भीषण गर्मी से अछूता है. पश्चिमी राजस्थान के कुछ हिस्सों को छोड़कर अधिकांश इलाकों से गर्मी लगभग नदारद है.

कई जिलों में पारा सामान्य से कम है
आमतौर पर अप्रैल के अंत में और मई की शुरुआत में प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में पारा सामान्य से तीन से चार डिग्री ज्यादा होता है. लेकिन इस बार ऐसा नहीं है. सीकर, जयपुर और उदयपुर जैसे जिलों में तो दिन का पारा सामान्य से कम है. जबकि अजमेर, कोटा, जोधपुर, सीकर में रात का पारा भी सामान्य से कम है. हालांकि जोधपुर और जैसलमेर में दिन का पारा सामान्य से 2 डिग्री ज्यादा 42-43 डिग्री के आसपास बना हुआ है.

मौसम विभाग का यह है पूर्वानुमान

मौसम विभाग के अनुसार अगले कुछ दिन प्रदेश में गर्मी बढ़ने के आसार नहीं हैं. बल्कि तापमान में और गिरावट हो सकती है. प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ और ट्रफ के कारण मौसम बदल सकता है. अगले चार दिनों में प्रदेश में धुलभरी हवाएं, मेघगर्जना और बारिश की संभावना बनी हुई है. मौसम विभाग के मुताबिक 2 मई यानि शनिवार से 22 जिलों में मौसम बदल सकता है. इनमें श्रीगंगानगर, चूरू, हनुमानगढ़, नागौर, बीकानेर, जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर, पाली, जालोर, झुंझुनूं, सीकर, दौसा, भरतपुर, जयपुर, करौली, धौलपुर, सवाईमाधोपुर, टोंक, अलवर, अजमेर और भीलवाड़ा में कहीं कहीं धूलभरी हवाएं और मेघगर्जन की संभावना है. इन क्षेत्रों में करीब 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से हवाएं चल सकती हैं. 4 मई को प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में मेघगर्जना और हल्की बारिश की संभावना है.

मौसम में बदलाव का यह है कारण
मौसम विभाग के निदेशक शिव गणेश के अनुसार प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है. इसके अलावा अरब सागर से नमी आ रही है. वहीं ऊपरी हवाओं का परिसंचालन भी हो रहा है. इस कारण से मौसम बदलने के पूरी संभावना है. कुछ इलाकों में बारिश और ओलावृष्टि के भी आसार हैं.
READ More...  नागौर में दलित युवकों से मारपीट के वायरल वीडियो की गूंज नागौर से लेकर प्रदेश को विधानसभा तक सुनाई दी.