समरस संस्थान द्वारा आयोजित ऑनलाइन कवि सम्मेलन में बारह कवियों ने प्रस्तुतियां देकर कोरोना कर्मवीरों को दी सलामी

0
110

समरसता संस्थान व परफेक्ट इवेंट्स व लाइफ मैनेजमेंट के द्वारा प्रायोजित, कवि मुकेश कुमार व्यास के ऑनलाइन कवि सम्मेलन कोरोना विषय पर गाँधीनगर गुजरात से आयोजित की गई । कवि सम्मेलन संयोजक सुत्रधार मुकेश कुमार व्यास ने बताया कि कोरोना कर्मवीरों को कलमकारों द्वारा सम्मान ज्ञापित करते के लिए ,लाइव कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसने देश के विभिन्न हिस्सों से 12 कवियों ने भाग लिया । कार्यक्रम की अध्यक्षता देश के जाने माने राष्ट्रीय गीतकर व कवि नरेन्द्र दाधीच भीलवाड़ा ने की, कवि सम्मेलन की शुरुआत कवियत्री बन्दना पांचाल अहमदाबाद की सरस्वती वंदना व दीप प्रज्वलन के साथ की गई, भीलवाड़ा राजस्थान के राष्ट्रीय गीतकार नरेन्द्र दाधिच ने, हे वीर जवान , कोरोना महामारी , पर जबरदस्त गीत व श्रंगार, वीर रस की कविताये सुनाई । राजस्थान के नवीन नव बीगोद ने भीलवाड़ा राजेंद्र जी भट्ट है कलेक्टर गजब कमान संभाली है ,   रब दे रहा है सजा ,हमने कोई ना कोई खता की होगी आदि कविताएं पढ़ी ।
मुकेश कुमार व्यास स्नेहिल ने कविता पाठ करते हुए कहा कि  घर से निकलकर, छोड़कर, समाज व,परिवार को, राष्ट्रभक्ति का जज्बा हो, और जीत का हो हौंसला, हरकदम,वो अविराम, निरंतर दौड़ता, ऐसे कर्मठ, कर्तव्यनिष्ठ, देशभक्त, सेवक का ऋणी होकर, मैं दिल से सलाम करता हु। आज की मेरी कविता, मेरे सभी सच्चे रक्षक व सिपहलार के नाम करता हूँ। बांसवाड़ा से रजनीश शर्मा ने काव्य पाठ किया । इसी क्रम में कवियत्री डॉ. पुनम गुजरानी सूरत ने घर से बाहर निकलना जरूरी तो नही, मौत से मिलना जरूरी तो नही, कवि सम्पत लौहार अहमदाबाद ने हंसी व्यंग्य की फुलझडी जलाते हुए चाय बनाना आता नही था, अब खाना बना रहा हु। विनीत शर्मा असर अहमदाबाद ने , इस मुसीबत के फंसे जग को इशारा देना। ज़ीस्त की कश्ती को तिनके का सहारा देना। डॉ. उर्मिला विश्वकर्मा ने पूरे विश्व ने कर दी ताला बंदी, समझो सारा जहां ठहर गया कवियत्री नलिनी शर्मा ने कोरोना बोले अपनी संस्क्रति अपनाना कवि मुकेश पांडेय जिगर अहमदाबाद ने मेरे आंगन में आ करके , दो पंछी बात करते हैं ,जो हमको कैद करते थे, वो खुद ही कैद हैं घर में।
नवीन चतुर्वेदी ने दुबई से काव्य पाठ करके वाही वाही लूटी । कवि सम्मेलन के अंत मे कवि सम्पत लौहार ने सभी का आभर व्यक्त किया, समरस संस्थान के संस्थापक अध्यक्ष मुकेश कुमार व्यास, कोषाध्यक्ष श्री CA अजय पंचारिया, कार्यालय मंत्री मनीष जोशी ने इस कवि सम्मेलन के उपलक्ष्य में सभी कवियों को संस्थान का आजीवन सदस्य व राष्ट्रीय कवि श्री नरेन्द्र जी दाधिच को आजीवन संरक्षक भी मनोनीत किया एवम सभी को प्रमाणपत्र व *समरस सम्मान भी दिये गये।

READ More...  Whatsapp यूजर्स के लिए बड़ी खबर! नए फीचर्स में आप मैसेज की टाइमिंग खुद तय कर पाएंगे