Solar Eclipse 2019 LIVE: सूरज पर लगा ग्रहण, PM मोदी ने भी देखा अद्भुत नज़ारा

0
179

साल का तीसरा और अंतिम सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) आज (26 दिसंबर) लगा है. कुल साढ़े 3 घंटे तक रहने वाले इस ग्रहण की शुरुआत भारत में सुबह 8 बजकर 4 मिनट पर हुई.  सूर्य ग्रहण की वलयाकार अवस्था दोपहर 12 बजकर 29 मिनट पर समाप्त होगी. ग्रहण की आंशिक अवस्था दोपहर एक बजकर 36 मिनट पर समाप्त होगी.

इस सूर्यग्रहण का भारत समेत नेपाल, चीन, ऑस्ट्रेलिया समेत कई देशों पर असर दिखाई देगा. बिहार (Bihar) की राजधानी पटना (Patna) स्थित श्रीकृष्ण विज्ञान केंद्र के खगोलविद विश्वनाथ गुप्ता की मानें तो भारत में सबसे ज्यादा असर केरल (Kerala) समेत दक्षिण भारत के कई राज्यों में यह दिखाई देगा. वहीं, बिहार और देश के अन्य सभी भागों में आंशिक सूर्य ग्रहण दिखाई देगा.

यह पूर्ण सूर्य ग्रहण नहीं है. इस बार चंद्रमा की छाया सूर्य का पूरा भाग नहीं ढक पाएगी. इस ग्रहण में सूर्य का बाहरी हिस्सा प्रकाशित रहेगा. साल के इस आखिरी सूर्य ग्रहण को वैज्ञानिकों ने ‘रिंग ऑफ फायर’ का नाम दिया है.  इससे पहले इस साल 6 जनवरी और 2 जुलाई को आंशिक सूर्य ग्रहण लगा था.


यहां पढ़ें लाइव अपडेट्स:-

10:44 AM>>प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सूर्य ग्रहण का नजारा देखा. उन्होंने ट्विटर हैंडल से तस्वीरें शेयर की हैं.

10:20 AM>>सिंगापुर की साइंस सेंटर ऑब्जरवेटरी से दिखाया गया सूर्य ग्रहण का नजारा.

GRAHAN

सिंगापुर में यू दिखा सूर्य ग्रहण.

09:20 AM>> संयुक्त अरब अमीरात की दुबई में कुछ ऐसा दिखा सूर्य ग्रहण का नजारा.

09:00 AM>>अबू धाबी में रिंग ऑफ फायर का नजारा. ग्रहण पर सूरज रिंग ऑफ फायर की तरह दिख रहा है.

SURYA GRAHAN

अबू धाबी में दिखा रिंग ऑफ फायर का नजारा.

08:45 AM>>भारतीय समयानुसार आंशिक सूर्यग्रहण सुबह 8 बजे शुरू हुआ, जबकि वलयाकार सूर्यग्रहण की अवस्था सुबह 9.06 बजे शुरू होगी. सूर्य ग्रहण की वलयाकार अवस्था दोपहर 12 बजकर 29 मिनट पर समाप्त होगी. ग्रहण की आंशिक अवस्था दोपहर एक बजकर 36 मिनट पर समाप्त होगी.

8:20 AM>> सूर्य ग्रहण को अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA ने चेतावनी जारी की है. नासा ने कहा है कि सूर्य ग्रहण को नंगी आंखों से देखने की भूल ना करें. विकिरण से बचाने वाले चश्मे का इस्तेमाल करें.

READ More...  Bigg Boss 13: सिर पीट-पीट कर रोईं शहनाज, सलमान को आया गुस्सा और कहा बिग बॉस के घर से निकलो

8:15 AM>> ग्रहण की छायादेश के अलग-अलग शहरों में सूर्य ग्रहण का नजारा दिखना शुरू हो गया है. तमिलनाडु के चेन्नै शहर में सूर्य ग्रहण का कुछ ऐसा नजारा दिख रहा है.

8:00 AM>> सूर्य ग्रहण से पहले दिल्ली के बिड़ला मंदिर के कपाट बंद कर दिए गए.

ग्रहण के दौरान रखें परहेज
खगोलविद की मानें तो 26 दिसंबर के बाद अब अगला सूर्यग्रहण वर्ष 2020 में 21 जून को देखने को मिलेगा. इधर, पटना के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य पुनित आलोक छवि की मानें तो बृहस्पतिवार को बृहस्पति राशि में सूर्यग्रहण लगेगा जो सुबह 8 बजकर 17 मिनट से शुरू होकर 11 बजकर 47 मिनट पर समाप्त होगा. 9 बजकर 33 मिनट पर ग्रहण का मध्यकाल रहेगा. ज्योतिषाचार्य ने सूतककाल से लेकर ग्रहण काल तक खाने-पीने की चीजों से दूर रहने की सलाह दी है. साथ ही ग्रहण काल के दौरान शुभ और मंगल कार्य से परहेज रखने की भी सलाह दी है. उन्होंने कहा कि यह खगोलीय घटना बेहद खास है, क्योंकि यह सूर्यग्रहण वलयाकार होगा. उन्होंने विभिन्न राशियों पर पड़ने वाले प्रभावों के बारे में भी बताया.

BHUWNESHWER

भुवनेश्वर में ऐसा दिखा सूर्य ग्रहण

सूर्यग्रहण का राशियों पर प्रभाव

मेष- नौकरी व्यवसाय में उन्नति का योग रहेगा.

वृष- आत्मविश्वास से परिपूर्ण रहेंगे और समस्याओं का समाधान होगा.

मिथुन- नौकरी में तरक्की, नए व्यवसाय का आरंभ, अचानक धनागम.

कर्क- मानसिक परेशानी, माता-पिता का सहयोग, भवन का सुख मिलेगा.

सिंह- अतिउत्साह से बचें, मित्र, बंधु-बांधव से मतभेद हो सकता है, समान परिवर्तन का योग.

कन्या- कारोबार की स्थिति में सुधार, पुराने मित्र के सहयोग से धनागम का सुख मिल सकता है.

तुला- क्रोध की अधिकता रहेगी, कार्य क्षेत्र में परिवर्तन अनुकूल रहेगा.

वृश्चिक- आत्मविश्वास में कमी होगी, कारोबार में कठिनाई हो सकती है, धार्मिक यात्रा का योग.

धनु- धैर्यशीलता की कमी रहेगी, एक से अधिक कार्य में प्रवीणता और सफलता मिलेगी, नए भवन का योग बनता है.

मकर- पारिवारिक जीवन में चली आ रही परेशानियां समाप्त होंगी, संतान की ओर से सुखद समाचार मिलेगा.

कुंभ- माता के स्वास्थ्य में विकार हो सकता है, नए भवन और भूमि का लाभ हो सकता है.

मीन- नौकरी में नई जिम्मेदारियां मिलेंगी, परिश्रम अधिक करना पड़ेगा.