कैसे सफल यूट्यूबर बनने कि दिशा में आगे बढ रहे है :- यूट्यूबर सुधीर बिश्नोई

0
177

जयपुर :- भारत यूट्यूब के लिए बहुत बड़ा मार्केट है और ऐसे तमाम यूट्यूबर्स हैं जो इसके जरिए लाखों की आमदनी कर रहे हैं। पत्रकार तथा यूट्यूबर सुधीर विश्नोई से बातचीत के दौरान उन्होंने अपने सक्सेस के फॉर्मूलों को बताया । सुधीर ने बताया कि उन्होंने कभी भी ये सोचकर अपना काम शुरू नहीं किया था कि वह एक युट्यूबर बनेंगे। वे एक स्वतंत्र पत्रकार है, तथा पत्रकारिता के जरिए अपनी बात को प्रमुखता से रखते हैं तथा समय-समय पर लेख भी लिखते रहते हैं। श्री विश्नोई से पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वे किसी बड़े बैनर तले टीवी एंकर बनना चाहते हैं ।
सुधीर बिश्नोई ने बताया कि मेरे आस-पास घटित होने वाली हर घटना को देख कर मैं विचलित हो जाया करता था, मन में कहीं ना कहीं हर घटना का विश्लेषण कर पब्लिक के सामने रखने का विचार तो आता था लेकिन कई बार विषम परिस्थितियों के चलते मन को मार कर रह जाना पड़ता था, यही सबसे बड़ा कारण रहा कि उन्होंने पश्चिमी राजस्थान के सबसे बड़े जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में मास्टर्स डिग्री प्राप्त की।

यूट्यूब पर चर्चा करते हुए श्री विश्नोई ने बताया कि, “इसी बीच यूट्यूब उनके रास्ते में आया। जब उनसे किसी ने कहा कि तुम देश के राजनीतिक हालातों पर नजर रखते हो तो अब तक यूट्यूब चैनल शुरू क्यों नहीं किया ?” उसी दिन से उन्होंने राजनीतिक उठापटक पर अपना वक्तव्य यूट्यूब के माध्यम से पब्लिक के बीच पब्लिश करना शुरू किया और कभी पीछे मुड़कर देखने की नौबत नहीं आई। अप्रैल 2018 में मीडिया मंथन नामक यूट्यूब चैनल से काम शुरू करने वाले श्री विश्नोई ने बताया कि शुरुआती दोर में राजनीतिक विषय से जुड़े मुद्दों पर अपनी जानकारी दुरुस्त रखना व प्रत्येक वीडियो पर लाखों की संख्या में views लाना उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती थी फिर भी उन्होंने उस चुनौती को स्वीकारा और अपना कदम यूट्यूब की दुनिया में रखा। जैसा कि मैंने ऊपर जिक्र किया श्री विश्नोई ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। कई बार तो राजनीतिक से जुड़े हुए वीडियो को एक मिलियन से भी ज्यादा लोगों ने देखा हौसला बढ़ता गया, दृढ़ संकल्प करते गए , सफलता मिलती गई और परिणाम आपके सामने हैं मध्यम वर्ग से बिलॉन्ग करने वाले श्री विश्नोई ने युवाओं के संदेश में कहा कि यदि आपके में कुछ करने का जज्बा और हौसला है तो सफलता जरूर मिलेगी केवल जरूरत है तो सकारात्मक सोच की

READ More...  अधिकारियों की कार्यशैली से सीएम गहलोत नाराज, बदले जा सकते हैं आधा दर्जन जिलों के कलेक्‍टर