सूरत: कर्ज में डूबे किसान ने की आत्महत्या, जमीन बेचने के बाद नहीं मिले थे पूरे पैसे

0
24

आर्थिक तंगी से जूझ रहे सूरत के एक किसान ने अपने ही घर में फांसी का फंदा गले में डालकर खुदकुशी कर ली. आत्महत्या करने से पहले किसान ने दो पन्नों का एक सुसाइड नोट भी लिखा, जिसमें उसने अपनी कमजोर पड़ी आर्थिक स्थिति को बताया है. इस घटना के बाद से गांव में मातम का माहौल है. पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

जहांगीरपुरा इलाके में रहने वाले 40 साल के किरीट भाई पटेल ने आत्महत्या कर ली. किरीट की पिछले लंबे समय से आर्थिक स्थिति पूरी तरह से खराब थी. उन्होंने गुजराती भाषा में लिखे अपने सुसाइड नोट में इस बात का जिक्र किया. उन्होंने लिखा कि ‘मेरे ऊपर कर्ज  बढ़ गया है इसलिए मैं खुदकुशी कर रहा हूं, मुझ पर ब्याज वाले दबाव डाल रहे हैं, ऐसी मंदी में पैसा कहां से लेकर आऊं. मगन देसाई से पैसे लेने हैं, केस चल रहा है. गुरुकुल पुलिस चौकी पर मैंने सब हकीकत लिखवाई है. ब्याज वाले मेरा घर भी हड़पना चाहते हैं मेरे पास फोन कॉल रिकॉर्डिंग भी है’.

किसान ने की आत्महत्या 

बताया जा रहा है कि आत्महत्या करने वाले किरीट भाई पटेल ने अपनी जमीन 2018 में मगन भाई देसाई नामक बिल्डर को 2 करोड़ रुपये में बेची थी. लेकिन बिल्डर मगन भाई देसाई ने जमीन की पूरी रकम उन्हें नहीं दी. दूसरी तरफ किरीट भाई पटेल ने कुछ लोगों से ब्याज पर भी पैसे लिए थे. एक तरफ न बिल्डर उनकी जमीन का बचा पैसा लौटा रहा था, दूसरी तरफ ब्याज पर रुपये देने वाले भी उनके पास से वसूली कर रहे थे, जिसकी वजह से उन्हें आत्महत्या करनी पड़ी.

READ More...  Rajasthan: 103 IAS अधिकारी बदले, किसी की मलाईदार कुर्सी छीनी तो कोई हुआ 'डंप', यहां देखें पूरी तबादला सूची

पुलिस मामले की जांच में जुटी 

सूरत पुलिस के एसीपी एस.एम.पटेल का कहना है कि जहांगीरपुरा इलाके में किरीट भाई पटेल नामक व्यक्ति ने गले में फंदा डालकर आत्महत्या कर ली. मृतक के पास से दो सुसाइड नोट मिले हैं. सुसाइड नोट में मृतक को किसी मगनभाई देसाई से पैसे लेने थे. लेकिन  मगन देने को तैयार नहीं था. मृतक का मोबाइल जब्त कर लिया गया है. उसमें से जो सबूत मिलेंगे उसके आधार पर मृतक की पत्नी या बेटे की शिकायत के आधार पर कानूनी कार्यवाही की जाएगी.