टीम इंडिया को बड़ा झटका, इशांत का दूसरे टेस्ट में खेलना मुश्किल, फौजी बनने की चाहत रखने वाला ये खिलाड़ी लेगा जगह!

0
295

क्राइस्टचर्च: भारत और न्यूजीलैंड के बीच क्राइस्टचर्च में खेले जाने वाले दूसरे टेस्ट मैच में इशांत शर्मा (टीम का हिस्सा नहीं होंगे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इशांत को दायें टखने में चोट लग गई है जिसके कारण वह प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं होंगे. उनकी जगह उमेश यादव को मौका मिल सकता है. आपको बता दें क्रिकेटर बनने से पहले उमेश यादव ने सेना में भर्ती होने के लिए आवेदन किया था लेकिन उनका चयन नहीं हो सका था.

इशांत को पुरानी चोट के कारण पैर में हो रहा है दर्द
रिपोर्ट्स के मुताबिक इशांत गुरुवार को नेट्स में जमकर अभ्यास करते दिखे थे जबकि मैच से एक दिन पहले वह नेट्स पर आए ही नहीं. इशांत ने गुरुवार को टीम मैनेजमेंट को बताया था कि 20 मिनट गेंदबाजी करने के बाद उनके पैर में दर्द होने लगा था. इसके बाद 28 फरवरी को उन्हें मेडिकल टेस्ट के लिए भेजा गया जिसकी रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है.

इशांत शर्मा ने पहले टेस्ट मैच में पांच विकेट हासिल किए थे. भारत दो टेस्ट मैचों की सीरीज में 0-1 से पीछे है और ऐसे में इशांत का न खेलना उसे मुश्किल में डाल सकता है. इशांत न्यूजीलैंड (New Zealand) आने से पहले एनसीए (NCA) में थे जहां उन्होंने अपना फिटनेस टेस्ट दिया था. इशांत को रणजी ट्रॉफी के मैच के दौरान टखने में चोट लगी थी जिसके बाद एनसीए में रहे थे. इशांत को फिर से उसी चोट के कारण दर्द महसूस हो रहा है जिसके चलते क्राइस्टचर्च में उनके खेलने पर संशय है.

READ More...  निकाय प्रमुख का चुनाव: बाड़ाबंदी जोरों पर, BJP-कांग्रेस की नजरें निर्दलियों पर

इशांत की जगह उमेश यादव को मिल सकता है मौका
वहीं नेट्स पर इशांत की गैरमौजूदगी में हेड कोच रवि शास्त्री और भरत अरुण  उमेश यादव  के साथ लंबी बातचीत करते दिखे थे. इशांत की गैरमौजूदगी में उमेश यादव को मौका दिया जा सकता है. उमेश ने न्यूजीलैंड में अब तक कोई टेस्ट मैच नहीं खेला है. उन्होंने हाल में सभी मैच घरेलू मैदान पर ही खेले हैं.

विदेशी जमीन पर उनका आखिरी टेस्ट मैच दिसंबर 2018 में पर्थ में था जहां वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले थे. हालांकि घरेलू जमीन पर उनका प्रदर्शन अच्छा रहा है. जसप्रीत बुमराह की गैरमौजूदगी में उमेश को टीम में मौका दिया गया और उन्होंने भारत में पिछले चार टेस्ट मैच में 23 विकेट हासिल किए. हालांकि विदेशी जमीन पर वह 17 टेस्ट में 46 विकेट ही ले सके हैं