राजस्थान: 348 साल में पहली बार श्रीनाथ मंदिर में 8 नहीं, सिर्फ 4 दर्शन; अजमेर दरगाह में हौज से वुजू पर रोक

0
324

जयपुर: कोरोना बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर प्रदेभर में कई बड़े मंदिरों में आरती, दर्शन, झांकियों की संख्या घटा दी गई है। हिदायत दी गई है कि एक बार में 50 से ज्यादा लोग मंदिर में प्रवेश ना करें। 348 साल में पहली बार श्रीनाथजी मंदिर में 8 की जगह सिर्फ 4 ही दर्शन होंगे। अजमेर दरगाह में हौज से वुजू पर रोक लगा दी गई है। अब नल से ही वुजू कर सकेंगे।

चित्तौड़गढ़ स्थित प्रसिद्ध सांवलियाजी मंदिर में दोपहर 12 से ढाई बजे के बीच आवाजाही बंद कर दी गई है। जैसलमेर के रामदेवरा मंदिर में दिन में तीन बार दर्शन की अनुमति हाेगी। पहले ऐसी कोई सीमा तय नहीं थी। सरकारी दफ्तरों काे बंद करना है या खोले रखना है, इस पर राज्य सरकार बुधवार को फैसला ले सकती है।
जयपुर में होने वाले गणगौर समेत 7 बड़े मेले-उत्सव निरस्त

  • 21 मार्च को सीकर में होने वाला शेखावाटी पर्यटक उत्सव रद्द।
  • 27-28 मार्च को जयपुर का गणगौर मेला नहीं होगा।
  • शाहपुरा में होने वाला गणगौर उत्सव नहीं होगा।
  • 27-29 मार्च तक उदयपुर का मेवाड़ उत्सव पर रोक।
  • नागौर में 27 से 2 अप्रैल तक चलने वाला बलदेव पशु मेला भी निरस्त।
  • करौली के श्रीमहावीरजी मेले के कार्यक्रम रद्द।
  • कैलादेवी लक्खी मेला स्थगित।

धर्मगुरुओं की अपील- घर पर ही करें पूजा-पाठ

सीएम अशोक गहलोत ने धर्मगुरुओं, विभिन्न समुदाय, समाजों के प्रतिनिधियों तथा सभी विपक्षी दलों के नेताओं से प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने में सहयोग करने की अपील की है। धर्मगुरुओं ने लोगों से अपील की है कि धार्मिक स्थलों पर एकत्र होने की जगह कुछ दिनों पर घर पर ही पूजापाठ और नमाज करें।

READ More...  Ajmer: RPSC ने दी बेरोजगारों को बड़ी राहत, 9 परीक्षाओं की तारीखें की घोषित, यहां देखें पूरा शेड्यूल