UP में अब पानी की टंकी पर चढ़कर नहीं बन पाएंगे ‘शोले के वीरू’, सीढ़ियों पर लगेंगे ताले

0
13

सरकार या पुलिस और प्रशासन से अपनी मांगें मनवाने के लिए पानी की टंकी पर चढ़कर आत्हत्या की धमकी देने वाले लोगों को रोकने के लिए योगी सरकार ने नया रास्ता निकाला है. सरकार ने फैसला किया है कि प्रदेश की सभी पानी की टंकियों की सीढ़ियों पर ताला लगाया जाए या सीढ़ियां अनुपयोगी हैं तो उन्हें हटाया जाए. दरअसल पिछले दिनों प्रयागराज के एक वकील अपने परिवार के साथ टंकी पर चढ़ गए. ये परिवार करीब 60 घंटे तक पानी की टंकी पर रहा. प्रशासन और पुलिस के हाथ-पांव फूल रहे.

अब इस तरह की घटनाओं पर मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने सभी डीएम का पत्र लिखकर निर्देश दिया है. इसमें कहा गया है कि पानी की टंकियों की सीढ़ियां बंद की जाएं और जो इस्तेमाल नहीं हो रही हैं, उन्हें तोड़ दिया जाए. यही नहीं मुख्य सचिव ने कार्रवाई के बाद रिपोर्ट भी मांगी है.

दरअसल वकील विजय प्रताप पत्नी, बेटे, बेटी और दो रिश्तेदारों के साथ बेली इलाके में एक पानी की टंकी पर चढ़ गया. उसकी मांग थी कि उन पर लगाए गए झूठे आरोपों की सीबीआई जांच हो. उसने धमकी भी दी कि अगर मांगें नहीं मानी गईं तो खुद के साथ अपने परिवार के सदस्यों पर पेट्रोल डालकर आग लगा लेगा. कई घंटे की कोशिश के बाद आखिरकार प्रशासन के आश्वासन मिलने पर परिवार नीचे उतरा.

आदेश के बाद लखनऊ में चढ़ा युवक

उधर मुख्य सचिव का आदेश आने के बाद लखनऊ में एक युवक अपनी मांग को लेकर पानी की टंकी पर चढ़ गया. तिरंगा लेकर टंकी पर चढ़े विजय रावत को उतारने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी. दबंग के खिलाफ कोई कार्रवाई न होने के विरोध में विजय रावत नाम का शख्स आवास विकास परिषद का कॉलोनी वृंदावन सेक्टर-5 में पानी की टंकी पर चढ़ गया. एसजीपीजीआई के राम टोला इलाके में रहने वाले विजय कुमार रावत का आरोप है कि एक दबंग ने उसके मकान पर कब्जा कर लिया है. पुलिस तमाम शिकायत के बाद भी उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. इससे पहले भी विजय रावत पानी की टंकी पर चढ़ चुका है.

READ More...  भारत के खिलाफ डेब्यू करने को तैयार कैमरून ग्रीन, चैपल ने बताया ब्रैडमैन-पोंटिंग जैसा टैलेंट