विधायकों को 29 फरवरी तक खाली करने होंगे आवास, पूर्व स्‍पीकर कैलाश मेघवाल ने उठाए सवाल

0
130

जयपुर: राजस्थान की राजधानी जयपुर में विधायकों के रहने के लिए विधानसभा की ओर से नए फ्लैट बनाए जाने के मामले में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष और वर्तमान में भाजपा विधायक कैलाश मेघवाल ने सवाल उठाए हैं. मेघवाल ने विधानसभा अध्यक्ष और मुख्यमंत्री समेत संबंधित विधायकों को पत्र लिखा है, जिसमें व्यवस्थागत कई सवाल उठाए गए हैं. कैलाश मेघवाल ने बताया कि 29 फरवरी तक प्रभावित विधायकों को आवास खाली करने के लिए कहा गया है, लेकिन अभी बजट सत्र चल रहा है ऐसे में विधायक सत्र में व्यस्त हैं. उन्होंने कहा कि विधानसभा भवन के पूर्व और पश्चिम में फ्लैट बनाने की चर्चा कई बार हो चुकी है, लेकिन अव्यवहारिक मान कर लागू नहीं किया गया.

मेघवाल ने उठाए तीन सवाल
1.  विधानसभा भवन के दोनों ओर बनने वाले बहुमंजिला फ्लैट्स के निर्माण से विधानसभा का स्वरूप दब तो नहीं जाएगा?
2. इस योजना के लिए बनी डीपीआर के अनुसार कितने बजट की आवश्यकता होगी? उसका प्रबंधन कैसे होगा?

3. जालूपुरा स्थित विधायक आवास की नीलामी से कितना धन प्राप्त होना प्रस्तावित है. अगर प्रस्तावित अनुमानित राशि नीलामी से प्राप्त नहीं होती है तो शेष राशि का क्या राज्य सरकार ने सहयोग देने की स्वीकृति दे दी है?

डीपीआर की कॉपी उपलब्ध कराई जाए
कैलाश मेघवाल ने अपने पत्र में यह भी लिखा है कि इस महत्वकांक्षी योजना का संबंध विधायकों से होने के कारण उन्‍हें संपूर्ण जानकारी दिया जाना भी वांछित है. मेघावल ने पत्र के जरिए मांग कि है कि इस योजना की डीपीआर की प्रति विधानसभा के पुस्तकालय में उपलब्ध करवाई जाए, ताकि विधायक इस पर अपने सुझाव भी दे सकें

READ More...  भाजपा ने जारी की राज्य सरकार के खिलाफ चार्जशीट

30 हजार रुपए पर्याप्त नहीं
मेघवाल ने लिखा कि विधायकों को आवास उपलब्ध करवाए जाने का उत्तरदायित्व विधानसभा प्रशासन का है. यदि विधानसभा समुचित सुविधा उपलब्ध करवाने में असमर्थ रहती है तो विधायकों को अपने स्तर पर रहने की व्यवस्था करने पर उन्हें वास्तविक व्यवहारिक या बाजार दर से पुनर्भरण किया जाए. मेघवाल ने लिखा कि विधानसभा की ओर से तीस हजार रुपए विधायकों के आवास के लिए दिए जाएंगे वो पर्याप्त नहीं हैं.