शादी से मना करने पर विधवा की जीभ और नाक काटी, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

0
169

जैसलमेर. पश्चिमी राजस्थान में भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर स्थित जैसलमेर जिले में दिल दहला देने वाली घटना सामने आयी है. यहां दुबारा शादी से मना करने पर एक विधवा महिला की नाक और जीभ काट दी गई. गंभीर रूप से घायल महिला का जोधपुर में इलाज चल रहा है. मामला सामने आने के बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. अन्य नामजद आरोपियों की तलाश की जा रही है. पीड़ित महिला के भाई ने उस संबंध में सांकड़ा थाने में मामला दर्ज करवाया है.

पुलिस के अनुसार, मामला जगीरों की ढाणी से जुड़ा है. यहां एक विधवा पर उसके ससुराल पक्ष के लोग एक अन्य शख्‍स से शादी करने का दबाव डाल रहे थे. लेकिन, महिला इसके लिए राजी नहीं हो रही थी. आरोप है कि इससे गुस्‍साए ससुराल वालों ने महिला के नाक और जीभ को काट दिया. महिला को गंभीर हालात में जोधपुर स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस ने इस मामले के मुख्य आरोपी जानू खान को गिरफ्तार कर लिया है. अन्य नामजद आरोपियों की तलाश की जा रही है. उनके संभावित ठिकानों पर पुलिस दबिश दे रही है, लेकिन अभी तक उनका कोई सुराग नहीं लग पाया है.

6 साल पहले हुई थी महिला की शादी

पुलिस के अनुसार, पीड़िता के भाई जगीरों की ढाणी निवासी बसीर खान की ओर से दर्ज कराई गई रिपोर्ट में बताया गया है कि उसकी बहन की शादी 6 वर्ष पूर्व जगीरों की ढाणी निवासी कोजे खान के साथ हुई थी. शादी के एक वर्ष बाद कोजे खान की मौत हो गई. इसके बाद से ही ससुराल पक्ष के लोग ससुराल के अन्य व्यक्ति के साथ शादी के लिए उस पर दबाव डाल रहे थे, लेकिन उसकी बहन इसके लिये मना कर दिया.

READ More...  बड़ी चूक: अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस के दो संदिग्ध बिना बताए उदयपुर से जयपुर पहुंचे

मंगलवार को दोपहर में दिया वारदात को अंजाम
आरोप है कि मंगलवार को दोपहर 1 बजे दुले खान, इकबाल खान, हासम खान, सलि पत्नी हासम खान, फारूक खान, आम्बे खान, लाडू खान, मनु खान, अनवर खान, सलीम खान, जानू खान, नेमते खान और नेवे खान आदि दो बाइक और 1 ट्रैक्टर में सवार होकर आए. उन्होंने एक राय होकर पीड़ि‍ता पर जानलेवा हमला कर दिया. बाद में धारदार हथियार से उसकी बहन की नाक और जीभ काट दी. हमलावरों ने उसका दाहिना हाथ भी तोड़ दिया. इस दौरान वहां मौजूद बिस्मिल्लाह ने बीच बचाव का प्रयास किया तो उस पर भी हमला करके हाथ तोड़ दिया. घायलों को तत्काल सांकड़ा अस्पताल लाया गया. वहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें गंभीर हालत में जोधपुर रेफर किया गया.