युवा आक्रोश रैली: NRC और NPR से किया किनारा, राहुल गांधी केन्द्र सरकार पर बरसे, लेकिन CAA

0
61

जयपुर: राजधानी जयपुर (Jaipur) में मंगलवार को हुई कांग्रेस (Congress) की ‘युवा आक्रोश रैली’ में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने केंद्र सरकार और पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर जमकर निशाने साधे, लेकिन CAA, NRC और NPR से लगभग किनारा ही किए रखा. इनकी बातें राहुल ने इशारों में ही की. राहुल गांधी ने बेरोजगारी, गिरती अर्थव्यवस्था और धार्मिक टकराव के माहौल को लेकर केंद्र सरकार (Central government) पर प्रहार किए. राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस मानती है कि देश को केवल युवा और स्टूडेंट्स ही बदल ही सकते हैं. राहुल ने युवाओं से आह्वान किया कि वे डरे और दबें नहीं.

मेड इन इंडिया ही मेड इन चाइना का मुकाबला कर सकता है
जयपुर के अल्बर्ट हॉल पर आयोजित रैली में राहुल ने युवाओं से कहा कि आपमें वो शक्ति है जो इस देश को बदल सकती है. आप अपनी शक्ति को पहचानिए. मेड इन इंडिया ही मेड इन चाइना का मुकाबला कर सकता है. आप अपनी आवाज को दबाने मत दो. आप हिंदुस्तान और अपने भविष्य पर सवाल उठाओ. जो भी इस देश को बांटने की कोशिश करता है, उसे बता दीजिए कि यह सही नहीं है. भारत की भाईचारे और प्रेम की छवि फिर से बनानी पड़ेगी. महात्मा गांधी की विचारधारा ही हमारी पहचान होनी चाहिए. हर जेनरेशन की जिम्मेदारी होती है. अब यह जिम्मेदारी आप पर है.

मदद में बैलेंस होना चाहिए

राहुल गांधी ने केन्द्र सरकार पर केवल उद्योगपतियों की मदद करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार को उद्योगपतियों के साथ गरीबों और युवाओं की मदद भी करनी चाहिए. मदद में बैलेंस होना चाहिए. उन्होंने आरोप लगाया कि पीएम मोदी ने 2 करोड़ रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन वो अपने वादे पर खरा नहीं उतरे. राहुल ने आरोप लगाया कि पिछले साल 1 करोड़ युवाओं ने अपना रोजगार खोया है. आज हिंदुस्तान की छवि दुनिया में रेप कैपिटल की बनी है. हिंदुस्तान की सरकार देश में हिंसा फैला रही है. मोदी को जीएसटी की समझ नहीं है. बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके पास ना नीति है और ना कार्यक्रम.

READ More...  ''बागला परिवार द्वारा कोटक महिंद्रा का बैंकिंग लाइसेंस रद्द किए जाने की मांग'' संबंधी समाचारों पर कोटक महिंद्रा बैंक का स्पष्टीकरण बागला परिवार द्वारा अमान्य 

राहुल ने सीएए, एनआरसी और एनपीआर से किया किनारा
राहुल गांधी की युवा आक्रोश रैली में यूथ कांग्रेस और एनएसयूआई बड़ी भूमिका में थे. रैली में हुए राहुल के भाषण को लेकर राजनीतिक हलकों में कई तरह की चर्चाएं हैं. राहुल गांधी ने अपने भाषण में सीएए, एनआरसी और एनपीआर को बिल्कुल भी महत्व नहीं दिया. जबकि कांग्रेस देशभर में इन तीनों मुद्दों के खिलाफ अभियान छेड़े हुए हैं. राजनीतिक विश्लेषक इसे इश्यू शिफ्टिंग से जोड़कर देख रहे हैं.राष्ट्रीय बेरोजगारी रजिस्टर (एनआरयू) की लॉन्चिंग की
इससे पहले सभा को सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम पायलट ने संबोधित किया. इस दौरान राहुल गांधी ने यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय बेरोजगारी रजिस्टर (एनआरयू) की लॉन्चिंग की. यूथ कांग्रेस इसे अभियान के तौर पर लेगी. यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने कहा हमें NRC और CAA की जगह NRU चाहिए.